Vighna Vinashak Ganesh Pooja

Vighna Vinashak Ganesh Pooja is done to remove obstacles and negativities from your home or workplace. This pooja blesses devotees with victory, brings harmony in family and helps one succeed in life, good luck, good health, knowledge, wealth, peace, favorable opportunities and zero hurdles.

Shree Ganapati Puja is performed to pave the path for marriage delays due to reasons related to planetary placements in your horoscope and related effects on your marriage prospects.  Ganesh ji in Hinduism is regarded as the God that removes all kinds of obstacles. For this reason, he is also known as the Vighna Vinashak. Lord Ganesha is worshipped for removing stress in the life of children and bless them with intelligence.

Shree Ganapati Puja is performed with all family members to make life easy and mitigate the struggles for family after shifting to a new house. With accurate puja of the Lord Vighnaharta by a qualified Priest, the family will be protected from misfortune and family will live with peace and harmony in the new house.

Ganpati Bappa puja is also considered auspicious before moving into a new office or workplace to remove all the obstacles, enrich positive energy environment, and gain all the auspiciousness, wealth, and upliftment in a new business or venture. Lord Ganesha, the son of Lord Shiva and Goddess Parvati, is one of the most revered Gods.

Ganesh Puja is performed by invoking Lord Ganapathi followed by Gauri-Ganesh Pooja, chanting of Ganapathi Mantra, Ganapathi puja, Aarti, Hawan and prasad distribution to receive his blessings.

Read More
Advantages of this Pooja:
    • Remove all obstacles and negativities around you at your home or work place.
    • Get protection from enemies and diseases, gain wisdom, knowledge, name, fame, and success, overcome all financial crises.
    • To retain health, wealth, and prosperity.
    • A best pooja for starting the new ventures, home, office, or workplace or doing any auspicious activity.
    • Bestows devotees with intelligence, good fortune, wisdom, harmony, and prosperity to entire family.
Your Pooja is Simplified

    Your Pooja is Simplified at “AstroPandit Om”

    • Ghar pe Pooja cost: Rs 2401/-
    • In online pooja option, Pooja Samagri will be arranged and used by you at your place of Pooja. Panditji will be available online during entire pooja through Google Meet link, which will be shared with you. For Pooja Samagri details, Check Pooja Samagri Column below. 
    • No of Pandits: 1, Time: 1-2 Hr,
    • With Havan  Price - Rs 2301
Price : Rs 3100/-
Special Price : Rs 1901/-
Location :Online
Category : Online E-Pooja/-

You will be connected with our Qualified Priest for Sankalp to get Devine blessings sitting at your Home through shared GOOGLE MEET LINK.  Pooja will be done as per procedure to fulfil your wishes, good health & good luck.

    If you want some special pooja or pooja with more Pandits to be done, please write to us in detail through CONTACT US option or ON REQUEST-SPECIAL POOJA category under BOOK POOJA option.

हिंदू धर्म ग्रंथों में कहा गया है कि गणेश जी, गणपति बप्पा, भक्त के सभी तरह की परेशानियों को खत्म करते हैं. इस दिन भक्त को सुबह उठकर नित्यक्रम से निवृत होकर स्नानादि कर लेना चाहिए. अब गणेश भगवान का ध्यान करके व्रत का संकल्प लेना चाहिए. उसके बाद साफ़ कपड़ा पहन कर पूजा स्थल पर पूर्व या उत्तर की ओर मुह करके बैठ जाना चाहिए. गणपति बप्‍पा की पूजा यूं तो कभी भी क‍िसी भी द‍िन और कैसे भी की जाती है.  पर ऐसी मान्यता है कि बुधवार, और विनायक चतुर्थी के दिन गणेश जी की पूजा करने से भक्तों की सभी बाधायें दूर होती है. गणेश जी, भक्त की सभी तरह की परेशानियों को खत्म करते हैं.  उसे संकट, रोग, और दरिद्रता से मुक्ति मिलती है. हिंदू धर्म शास्त्रों में भी गणेश भगवान को विघ्नहर्ता कहा गया है. ये अपने भक्तों के सभी दुखों का नाश करते हैं. बुधवार को की गई गणेश भगवान की पूजा शीघ्र फलदायी होती है.

श्रीं गं सौभ्याय गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा। गणेश जी के इस मंत्र का जाप करने से आर्थिक उन्नति होती है और करियर में भी बढ़ोत्तरी होती है। भगवान श्रीगेश को तुलसी दल व तुलसी पत्र नहीं चढ़ाना चाहिए उन्हें, शुद्ध स्थान से चुनी हुई दुर्वा को धोकर ही चढ़ाना चाहिए. गणेश भगवान को लड्डू और मोदक पसंद है. इसलिए इन्हें लड्डू और मोदक का भोग लगाना चाहिए. मान्यता है कि गणपति बप्पा को इन चीजों का भोग लगाने से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं.

हिंदू पंचांग के अनुसार, हर महीने विनायक चतुर्थी तिथि दो बार आती है। जो चतुर्थी तिथि अमावस्या के बाद आती है उसे विनायक चतुर्थी कहा जाता है. वहीं, कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी कहा जाता है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, जो लोग विनायक चतुर्थी का व्रत करते हैं उन्हें कष्टों से मुक्ति मिल जाती है। साथ ही मनोकामनाएं भी पूरी हो जाती हैं.

श्रीगणेश पूजा अपने आपमें बहुत ही महत्वपूर्ण व कल्याणकारी है. चाहे वह किसी कार्य की सफलता के लिए हो या फिर चाहे किसी कामनापूर्ति स्त्री, पुत्र, पौत्र, धन, समृद्धि के लिए या फिर अचानक ही किसी संकट मे पड़े हुए दुखों के निवारण हेतु हो. अर्थात्‌ जब भी कभी किसी व्यक्ति को किसी अनिष्ट की आशंका हो या उसे नाना प्रकार के शारीरिक या आर्थिक कष्ट उठाने पड़ रहे हो तो भी उसे श्रद्धा एवं विश्वासपूर्वक किसी योग्य विद्वान ब्राह्मण के सहयोग से गणेश जी पूजन करना चाहिए.

By Panditji

Hawan Samagri & Samidha, Dhoop, Roli-Moli, Doob-Grass, Pan ke patte-Supari, Janeu, aam-patte, Kapoor, Batti, Milk, curd, Cow-Ghee, Honey, Sugar, Haldi, Rice, Fruits, Nariyal, Panchmewa, Modak (Laddu), Red Flower, Mala, Kalash, Hawan Kund etc.

Related Puja

Not A Member? Connect With Us...