Surya Graha Shanti Pooja Rs 3001/-

WHY YOU NEED THIS POOJA

The lord Surya (Sun) signifies Vitality, power, confidence, Soul’s energy, consistency, self-growth and development Personality, general health, Father, Rank, Authority, High position, Political career, Government Job etc.

Afflicted Sun gives arrogance, wavering temperament, haughty, proud, jealous, over ambitious, shorttempered, angry, self-opinionated, dominating nature, extravagance, obstacles & difficulties, immoral, spiteful, health problems, Fever, Headache, Eye troubles and problems with higher officials and politicians.

You are advised to perform, Surya Shanti Pooja in case you feel above problem/s. This pooja is performed to rectify the malefic sun in a horoscope to remove negativity and increase positivity to get all benefits controlled by Sun.

Read More
Advantages of this Pooja:
    • This pooja can fill your life with all blessings controlled by Sun like Vitality, power, confidence, Soul’s energy, consistency, self-growth and development Personality, general health, Father, Rank, Authority, High position, Political career, Government Job etc .
    • Can remove all negative things like arrogance, wavering temperament, haughty, proud, jealous, over ambitious, short-tempered, angry, selfopinionated, dominating nature, extravagance, obstacles & difficulties, immoral, spiteful, health problems, Fever, Headache, Eye troubles and problems with higher officials and politicians.
Your Pooja is Simplified

    Your Pooja is Simplified at “AstroPandit Om”

    • Pooja Cost:: On Site (At your place-home or office) : Rs 3001/-. Price is inclusive of Pooja samagri. For details what you need to arrange, check Pooja Samagri Column below.
    • No of Pandits: 1, Time: ~3Hrs, No of mantras: 7000.

     

Price : Rs 4100/-
Special Price : Rs 3001/-
Location :At your home, Office or other place as per your request
Category : Ghar Pe Pooja/-

निश्चित समय पर पंडित जी निर्धारित संख्या में आपकी सुविधा अनुसार 7000 मंत्रों का जाप करेेंगे और उसके उपरांत विधि विधान से हवन करेंगे।

    If you want some special pooja or pooja with more Pandits to be done, please write to us in detail through CONTACT US option or ON REQUEST-SPECIAL POOJA category under BOOK POOJA option.

इस पूजा के महत्‍व

भगवान सूर्य प्रत्यक्ष देवता हैं, जिनके दर्शन हमें प्रतिदिन होते हैं। सूर्य ग्रह को जगत की आत्मा और ईश्वर का नेत्र बताया गया है।  सूर्यदेव की कृपा से ही पृथ्वी पर जीवन बरकरार है। ज्योतिष के अनुसार सूर्य को नवग्रहों में प्रथम ग्रह माना गया है। ऋषि-मुनियों ने उदय होते हुए सूर्य को ज्ञान रूपी ईश्वर बताते हुए सूर्य की साधना-आराधना को अत्यंत कल्याणकारी बताया है। प्रत्यक्ष देवता सूर्य की उपासना शीघ्र ही फल देने वाली मानी गई है। जिनकी साधना स्वयं प्रभु श्री राम ने भी की थी। प्रभु श्रीराम के पूर्वज भी सूर्यवंशी थे। किसी भी जातक की जन्म कुंडली में सूर्य ग्रह का अत्यधिक महत्व होता है। यह मनुष्य की प्रसिद्धि, ख्याति, सफलता, सामाजिक स्थिति, सरकारी नौकरी आदि को दर्शाता है। सूर्य यदि कुंडली में अशुभ, पीड़ित या दुर्बल हो, तो यह चिंता का विषय हो सकता है। ऐसे व्यक्ति के सम्मान की हानि, पिता को कष्ट, उच्च पद प्राप्ति में बाधा, ह्रदय और नेत्र संबंधी रोग होते हैं। सूर्य ग्रह स्वास्थ्य को अधिक रूप से प्रभावित करता है। शरीर में स्थित आँख, हृदय गंजापन चेहरा पेट अस्थि बुखार इत्यादि पर सूर्य का विशेष रूप से प्रभाव होता है।

सच्चे मन से की गई साधना से प्रसन्न होकर सूर्य ग्रह अपने भक्तों को सुख-समृद्धि एवं अच्छी सेहत का आशीर्वाद प्रदान करते हैं। जीवन से जुड़े तमाम दुखों और रोग आदि को दूर करने के साथ-साथ जिन्हें संतान नहीं होती उन्हें सूर्य साधना से लाभ होता हैं। पिता-पुत्र के संबंधों में विशेष लाभ के लिए सूर्य साधना पुत्र को करनी चाहिए। सूर्य में तेज होता है इसलिए उनकी पूजा करनी चाहिए, ताकि आपको और आपके परिवार को ऊर्जा मिले.

To be arranged by Panditji

Hawan Samagri & Samidha, Gangajal, Roli-Moli, aam-patte, paan-patte-supari, Kapoor, Agarbatti-Dhoop, Batti etc.

To be arranged by you (Devotee)

Milk, curd, Cow Ghee, Honey, Sweets, Fruits, Panchmewa, Flower, Mala, Nariyal, Kalash, Hawan Kund.

 

 

Related Puja

Not A Member? Connect With Us...