Guru (Brihaspati) Graha Shanti Pooja Rs 4501/- with All Puja Samagri

WHY YOU  NEED THIS POOJA

Guru or Jupiter, the biggest planet (Dev-Guru) is one of the most benefic planets in the astrology. If placed strong in the Horoscope, makes the native truthful, honest and provides Divine Grace and success.

Guru controls Health, wealth, wisdom, philosophy, law, justice, science, religion, knowledge, elder sibling, children, higher education, meditation, dharma, honour, merit, fame, virtue, truthfulness, morality, ethics, politics, optimism, positivity, progress, future, expansion, holiness and divinity etc.

Afflicted Guru may exhibit native feeling over optimistic, extravagant, careless, gambling, misfortune, misjudgement, law suits, lack of compassion & peace, suffering from financial problems, health problems like low back pain, jaundice, liver related issues, thyroid gland, neck, jaws, cough, cold, hearing problems, ear infection and sore throat etc.

This pooja is performed to rectify the malefic effects of Guru and to remove negativity to avail all benefits which Guru Controls.

Read More
Advantages of this Pooja:
    • Rectify the malefic effects of Guru and remove negativity to avail all benefits which Guru Controls
    • Relief from ill health, disharmony and bad thoughts from the mind.
    • Enhance wisdom, intellect, luck, fortune and divine grace.
Your Pooja is Simplified

    Cost of Puja (No hidden charges)

      • Rs 4501/-Price is inclusive of Pooja Samagri. For what you need to arrange, please check the Pooja Samagri Column
      • No of Pandits: 2, Time: 5Hrs, No of mantras: 19000
Price : Rs 5101/-
Special Price : Rs 4501/-
Location :At your home, Office or other place as per your request
Category : Ghar Pe Pooja/-

पंडित जी समय पर आकर विधि अनुसार पूजा करेंगे और उसके बाद हवन करेंगे.

 

 

    If you want some special pooja or pooja with more Pandits to be done, please write to us in detail through CONTACT US option or ON REQUEST-SPECIAL POOJA category under BOOK POOJA option.

इस पूजा के महत्‍व

गुरु ग्रह धन और ज्ञान का प्रतीक है। बृहस्पति को देवगुरु का स्थान दिया गया है। ज्योतिष में गुरु को सबसे शुभ ग्रह माना गया है। इस कारण यदि कुंडली में गुरु शुभ स्थिति में है तो जातक धनवान के साथ साथ विद्वान भी होता है। बृहस्पति अपने याचक को मनोवांछित फल प्रदान करते है। ये जातक को सन्मार्ग पर चलाते है तथा उनकी रक्षा भी करते है।

बृहस्पति ग्रह यदि अनुकूल स्थिति में है तो जातक को धन तथा ज्ञान और विवेक सुख प्रदान करता है।जातक न्याय तथा ज्ञान की पराकाष्ठा का अनुभव करता हुआ उत्तरोत्तर आगे की ओर बढ़ता रहता है इस कारण कारण समाज तथा परिवार में मान-सम्मान, प्रतिष्ठा और यश को प्राप्त करता है। जातक संतान तथा धन सुख का उपभोग करता है।

यदि गुरु अशुभ स्थिति में है तो मान-सम्मान, प्रतिष्ठा, ज्ञान तथा संतान को नष्ट करता है। जातक का लिवर कमजोर हो जाता है परिणामस्वरूप व्यक्ति पेट की बीमारी या पीलिया रोग से ग्रसित हो जाता है और कभी कभी इसके कारण जातक की मृत्यु भी हो जाती है। अतः व्यक्ति गुरु से सम्बंधित मन्त्र, पूजा इत्यादि करने से शारीरिक व्याधि से छुटकारा पा सकते है।

गुरु ग्रह को मजबूत बनाने के लिए या दोष कम करने के लिए कुछ आसान उपाय:

बृहस्पति ग्रह के लिए आराध्य देव विष्णुजी है। अतः गुरु की शांति हेतु विष्णुदेव की आराधना करनी चाहिए।

गुरुवार का व्रत रखें, पीले वस्त्र पहनें, बिना नमक का भोजन करें. भोजन में पीले रंग की चीजें जैसे बेसन के लड्डू, आम आदि शामिल करें.

पूजन में केसरिया चंदन, पीले चावल, बेसन के लड्डू, पीले फूल व भोग में पीले पकवान या फल अर्पित करें.

गुरु से जुड़ी पीली वस्तुओं का दान करें. पीली वस्तु जैसे सोना, हल्दी, चने की दाल, केला, आम (फल) आदि.

To be arranged by Panditji

Hawan Samagri & Samidha, Honey, Chowki, Gangajal, Roli-Moli, fruits, aam-patte, paan-patte-supari, Panchmewa, Panchamrit, Flower, Mala, Nariyal, Kapoor, Dhoop, batti etc.

To be arranged by you (Devotee)

Ghee, Curd, Sweets.

Related Puja

Not A Member? Connect With Us...