Griha Pravesh +Sundar Kand-Rs 3300/-

WHY YOU YOU NEED THIS POOJA

Sundar kand path at the time of Griha Pravesh grants a special benefit to the devotees for prosperity and happiness to everyone at home.

Graha Pravesh Pooja is performed to purify the environment of the home and give protection from the evil eye. This pooja is an important ceremony required to be performed before shifting to any new house or Rented house. You may experience the chant of the first mantra by the pandit at your home as the Greha Pravesh pooja commences as you embark on the divine experience of a Vedic House warming Ceremony feeling full of positive waves. This pooja is performed to ensure peace and harmony in your new house. It is also believed that it drive away all negativity from the premises of your home and ensures the dweller to live peacefully.

Sundar Kand is the Heart of our Ramayana. It tells about how Hanuman ji overcame all the difficulties and successfully could find Sita Maa and how the Lanka was burnt by him.

Sunder Kand path is done at the homes to get rid of difficulties in our lives, overcome opponents or our enemies, Mental and physical health problems apart from enjoying the melodious singing of the Sundar Kand.

Sundar Kand is one of the seven Kands of Ramayana which defines the Lord Hanuman's dedication, valor, shrewdness and confidence. Penned by Tulsidas ji, it portrays Hanuman's epic trip over the sea to Lanka to give Lord Rama's message to Maa Sita and destroy the Lanka alone.

Sundar Kand path if done by pandits with playing dholak, manjeera and other instruments gives so much positive energy to the home and makes a pleasant & powerful environment to overcome all difficulties and negativities of the home and entire place of worship.

Vastu Shanti Puja during Griha Pravesh grants mercy in case the construction of the building had caused any harm to any living thing like trees, animals, birds, insects, etc.

Procedure involved:

Swasti Vachan

Dwar Puja,

Gauri Ganesh puja

Kalash Navgraha Puja

Maa Annpurna Puja

Vastu Puja Jaap

Sundar Kand

Havan and prasad distribution.

Read More
Advantages of this Pooja:

    Advantages

    •     It purifies the environment of the home and give protection from the evil eye.

    •     An important ceremony required to be performed before shifting to any new house or Rented house.

    •     You can embark on the divine experience of a Vedic House-warming Ceremony feeling full of positive waves with this pooja

    •     It ensures peace and harmony in your new house.

    •     It improves financial situation and ensures a stable source of income.

    •     It makes you worriless.

    •     Helps in legal matters and to overcome enemies.

    •     It makes you fearless and full of confidence.

    •     Helps in getting rid of diseases and gives peace and wealth.

    •     Removes evil, negative energy and enemies.

    •     Helps in bringing courage and confidence.

    •     It removes the ill-effect of Saturn, Rahu and Mars from your horoscope.

    •     Creates pleasant surrounding and purifies the mind and the soul.

Your Pooja is Simplified

    Your Pooja is Simplified

    •     Pooja Cost: : Rs 3301/-Price is inclusive of Pooja samagri. You need to arrange only eatables, flowers / garland, hawan kund, etc. For details, check Pooja Samagri Column.

    •     No of Pandits: 1, Time: ~3Hrs

Price : Rs 4401/-
Special Price : Rs 3301/-
Location :At your home, Office or other place as per your request
Category : Ghar Pe Pooja/-

पंडित जी समय पर आकर विधि अनुसार पूजा करेंगे और उसके बाद हवन करेंगे.

    If you want some special pooja or pooja with more Pandits to be done, please write to us in detail through CONTACT US option or ON REQUEST-SPECIAL POOJA category under BOOK POOJA option.

इस पूजा के महत्

गृह प्रवेश के समय सुंदर कांड पाठ भक्तों को घर में सभी के लिए समृद्धि और सुख के लिए विशेष लाभ प्रदान करता है।

घर चाहे स्वयं का हो या फिर किराये का। पहली बार अपने घर में प्रवेश करने की खुशी कितनी होती है इसे महसूस कर सकते हैं । जब हम प्रवेश करते हैं तो नई आशा, नए सपने, नई उमंग स्वाभाविक रूप से मन में हिलोर लेती है। नया घर हमारे लिए मंगलमयी हो, प्रगतिकारक हो, यश, सुख, समृद्धि और सौभाग्य की सौगात दें यही कामना होती है। गृह प्रवेश के लिए शुभ मुहूर्त का ध्यान जरुर रखें। एक विद्वान ब्राह्मण की सहायता लें, जो विधिपूर्वक मंत्रोच्चारण कर गृह प्रवेश की पूजा को संपूर्ण करता है।

कई बार अचानक आपको घर रास नहीं आती, घर में क्लेष रहने लगता है । इसका एक मुख्य कारण हो सकता है कि आपने अपने गृह प्रवेश के दौरान जाने अंजाने वास्तु नियमों का पालन न किया हो। गृह प्रवेश से पहले पूजा जरुर करवायें।  घर में बने भोजन से सबसे पहले भगवान को भोग लगाएं। गौ माता, कौआ, कुत्ता, चींटी आदि के निमित्त भोजन निकाल कर रखें। ब्राह्मण को भोजन कराएं या फिर किसी गरीब भूखे आदमी को भोजन करा दें। इससे घर में सुख, शांति व समृद्धि आती है । मान्यता है कि ऐसा करने से घर में सुख, शांति व समृद्धि आती है व हर प्रकार के दोष दूर हो जाते हैं।

सुंदरकाण्ड पाठ करने से जातक को मानसिक शांति मिलती है | घर से हर प्रकार की नकारात्मक उर्जा दूर होने लगती है | व्यक्ति का आत्मविश्वास बढ़ने लगता है | किसी भी शुभ कार्य को शुरू करने से पूर्व सुंदर काण्ड पाठ करना लाभकारी माना गया है | शारीरिक और मानसिक चिंताएं दूर होती हैं। संकट किसी भी प्रकार का हो चाहे वह ऊपरी बाधा से सम्बंधित हो या फिर असाध्य रोग से सम्बंधित, सुंदर काण्ड के नियमित पाठ से सभी संकट दूर होने लगते है| ऐसा जातक सभी प्रकार से सुख प्राप्त करता है व सदैव प्रसन्न रहता है | पारिवारिक कलह, रोग से मुक्ति, नकारात्मक शक्ति से छुटकारा, व्यवसाय में उन्नति सभी में सुंदरकाण्ड पाठ करने से लाभ मिलता है | सुंदरकांड का पाठ कराने से भूत-प्रेत का डर नहीं लगता, रुके हुए काम पूरे हो जाते हैं।

सुंदरकाण्ड पाठ करने से बजरंग बलि का आशीर्वाद मिलता है तथा मन से भय दूर हो जाता है। सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती जय और सुंदरकांड का पाठ कराने से मनवांछित सफलता मिलती है, सभी महत्‍वपूर्ण कार्य संपन्‍न होते हैं। जातक के जीवन में सुख-समृद्धि का आगमन होता है। सुंदरकांड पाठ के प्रभाव से आपके जितने भी रुके हुए काम हैं वो पूरे हो जाते हैं। शारीरिक और मानसिक चिंताएं दूर होती हैं। ऐसा माना गया है कि जो लोग लगातार 41 सप्ताह तक हर मंगलवार के दिन सुंदरकाण्ड का विधिवत पाठ पूर्ण श्रद्धा के साथ करते है उनके बड़े से बड़े कार्य सिद्ध होते है व हनुमान जी से विशेष आशीर्वाद की प्राप्ति होती है |

सुन्दरकाण्ड, तुलसीदास जी द्वारा रचित श्री रामचरित मानस का ही एक काण्ड है | जिसमें हनुमान जी की सफलता का वर्णन किया गया है | हनुमान जी को प्रसन्न करने के बहुत से उपाय है जिनमें सुंदरकाण्ड पाठ द्वारा उनका स्मरण करना सबसे अधिक प्रभावी माना गया है | सुंदरकाण्ड पाठ करते समय ध्यान भगवान श्री राम और हनुमान जी के चरणों में रखे |

By Panditji

Hawan Samagri & Samidha, Gangajal, Roli-Moli, aam-patte, abeer/gulal, Tulsi, Doob graas, paan-patte-supari, Kapoor, Dhoop, Batti, Sundar Kand Books etc.

To be arranged by you (Devotee)

Ghee, Honey, Sweets, Fruits, Flower, Nariyal, Kalash, Hawan Kund.

Related Puja

Not A Member? Connect With Us...